Join Us Now And Get A Free Diet Plan         |        Enjoy Yoga With International Medallist Yoga Therapist Mukesh kumar (Sadhak Mukesh)        |        Join Us Now And Get 10% Off On All The Products Of Yogic Lifestyle        |        Unbelievable Franchisee Offer at Rs.0/- Fee         |        Admissions Open Now for Yogic Lifestyle Foundation Program..!        |        Professional Yoga Teacher Training Programme....Coming Soon!

मिड ब्रेन एक्टिव कर अपने बच्‍चे को बनाएं ऑलराउंडर!


मिड ब्रेन एक्टिव कर अपने बच्‍चे को बनाएं ऑलराउंडर! हमारे मस्तिष्क के तीन भाग होते हैं। राइट ब्रेन, लेफ्ट ब्रेन, और दोनों को जोड़ने वाला हिस्सा मिड ब्रेन होता है। ज्‍यादातर लोग लेफ्ट ब्रेन का उपयोग करते हैं, जबकि राइट ब्रेन बहुत कम उपयोग में आ पाता है। बहुमुखी प्रतिभा का धनी व्यक्ति भी जिंदगी में अपने मस्तिष्क का छोटा सा अंश ही उपयोग करता है। सृजन शक्ति से सम्पन्न राइट ब्रेन का उपयोग न के बराबर हो पाता है। यदि मिड ब्रेन एक्टिव हो जाए, तो बच्चा आल राउंडर बन जाता है, उसके आईक्यू और ईक्यू दोनों एक साथ बढ़ते है। मिड ब्रेन एक्टिवेशन मिड ब्रेन एक्टिवेशन ध्यान और विज्ञान के संयोग से विकसित एक विशेष तकनीक है जिसके द्वारा सबसे पहले बच्चे के दिमाग को अल्फा तरंग की स्टेज में लाया जाता है। इस स्थिति में मिड-ब्रेन चेतन एवं अवचेतन मन के बीच ब्रिज का काम करने लगता है। फिर एक खास तरह की ब्रेन-वेब्स, विशिष्ट ध्वनि तरंगें सुनवाई जाती हैं, जिससे मिड-ब्रेन के न्यूरान सेल्स सक्रिय हो जाते हैं। मिड-ब्रेन सक्रिय होने से यादाश्‍त, ध्‍यान, कल्‍पनाशक्ति, रचनात्‍मकता और जल्दी पढ़ने की कला जाग्रत हो जाती है। सभी इंद्रियां एक साथ आब्जेक्ट को महसूस कर मस्तिष्क को सूचना देने लगती हैं। यह पूरी प्रक्रिया वैज्ञानिक प्रणाली पर आधारित है जिसे संगीत, नृत्य, ब्रेन जिम के व्यायाम, पहेलियां एवं विभिन्न खेल आसान और रोचकपूर्ण बनाते हैं। बच्चों को शांत तथा विश्रामपूर्ण भावदशा में ले जाकर उन्हें अलग-अलग स्टेप, जैसे ब्रेन एक्सरसाइज, ब्रेन जिम, डांस, पजल्स, गेम्स, योग व ध्यान क्रियाएं सिखाई जाती हैं। शरीर के बांए और दांए, दोनों तरफ के अंगों को बराबरी से उपयोग करने की प्रेक्टिस कराई जाती है। मिड ब्रेन एक्टिवेशन का समय मिड ब्रेन एक्टिवेशन वैसे तो २ दिन में हो जाता है। पहले और दूसरे दिन 6-6 घंटे अभ्यास कराया जाता है। इसके बाद इसका फॉलोअप दो घंटे हर हफ्ते करवाया जाता है। करीब डेढ़ माह के अभ्यास में बच्चों की इंद्रियां संवेदनशील होने लगती हैं। बच्चे को घर पर भी कुछ अभ्यास करना होता है। लगभग 3 महीने अभ्यास करने से पूरा एक्टिवेशन हो जाता है। इसके बाद 10-15 मिनिट रोज प्रयोग करते रहने से जिंदगी भर इसका लाभ लिया जा सकता है। 5 से 15 साल तक के बच्चों का मिड ब्रेन आसानी से सक्रिय हो सकता है। Yogic Lifestyle Foundation